शैक्षिक योग्यता और सम्पत्ति का ब्यौरा छुपाना विधायक को पड़ा महगा चुनाव रद्द किए जाने की उठी अब मांग

 शैक्षिक योग्यता और सम्पत्ति का ब्यौरा छुपाना विधायक को पड़ा महगा चुनाव रद्द किए जाने की उठी अब मांग

लकसर
चुनाव रद्द किए जाने की मांग
हाई कोर्ट नैनीताल ने पुर्व विधायक काजी निजामुद्दीन की याचिका पर सुनवाई करते हुए मंगलौर विधानसभा से निर्वाचित बसपा विधायक सरवत करीम अंसारी को नोटिस जारी किया है चुनावी शपथ पत्र में शैक्षिक योग्यता, आय और सम्पत्ति का ब्यौरा सहित कई महत्वपूर्ण तथ्य छुपाए जाने की शिकायत पर कोर्ट ने बसपा विधायक से जवाब मांगा है। पूर्व कांग्रेस विधायक व राष्ट्रीय सचिव काज़ी निज़ामुद्दीन ने प्रेस वार्ता कर बताया कि निर्वाचित बसपा विधायक के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। जिसमे उन्होंने बताया कि चुनाव शपथपत्र में बसपा विधायक द्वारा शैक्षिक योग्यता व कई अहम तथ्य को छुपाया गया है जबकि चुनावी शपथपत्र में उन सभी का उल्लेख करना अनिवार्य है, मौजूद विधायक पर जनता को गुमराह कर चुनावी शपथपत्र झूठी जानकरी दिखाकर चुनाव अधिकारियों व मंगलौर की जनता को भृमित किया है इसलिए कोर्ट से चुनाव रद किये जाने की मांग की है। कोर्ट ने आगामी 7 जून को सुनवाई की तारीख रखी है। कांग्रेस प्रत्याशी व पूर्व विधायक काजी निज़ामुद्दीन चुनाव को रद्द कर दोबारा चुनाव कराए जाने की मांग कर रहे है। वही बसपा से निर्वाचित विधायक सरवत करीम अंसारी इस पर कुछ भी बोलने से मना कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related post

Share