चारधाम यात्रा को लेकर सरकार की तैयारियां अधूरी- हरिकृष्ण भट्ट

 चारधाम यात्रा को लेकर सरकार की तैयारियां अधूरी- हरिकृष्ण भट्ट

चमोली

3 मई को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ उत्तराखंड में चार धाम यात्रा का आगाज हो गया है । 6 मई को केदारनाथ तो 8 मई को बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने है । लेकिन सरकार अभी तक चारधाम यात्रा की तैयारियां पूरी नही कर पाई है । कर्णप्रयाग के समीप बदरीनाथ यात्रा मार्ग पर सड़क की कटिंग से लग रहा जाम तीर्थयात्रियों की परेशानियों को बढ़ा सकता है । बद्रीनाथ में मास्टर प्लान के चलते ब्यापारियों के साथ जो बर्ताव किया जा रहा है वह चिंतनीय है । जिससे पर्यटन से जुड़े कारोबारी खासे चिंतित और परेशान है । कर्णप्रयाग के होटल कारोबारी हरिकृष्ण भट्ट का कहना है कि सरकार का ध्यान चारधाम यात्रा में नही बल्कि चंपावत के उपचुनाव हासिल करने में है ।

कोरोना महामारी के दो साल बाद इस वर्ष चारधाम यात्रा अच्छी चलने की उम्मीद है । देश और दुनिया से प्रति वर्ष लाखों की संख्या में दूर दूर से लोग चार धाम यात्रा पर आकर पुण्य अर्जित करते है । तीर्थयात्रियों को कोई दिक्कत न हो इसके लिये सरकार यात्रा से पहले इसकी तैयारियो पर जुट जाती है । कोरोना महामारी के बाद इस साल चारधाम यात्रा के जोरो पर चलने की उम्मीदें है । इसके लिए तीर्थाटन से जुटे कारोबारियों ने तो पूरी तैयारियां कर ली है लेकिन यात्रा को लेकर सरकार की तैयारियां अभी भी अधूरी है । बद्रीनाथ यात्रा मार्ग पर कर्णप्रयाग के समीप यात्रा से ठीक पहले सड़क कटिंग का कार्य किया जा रहा है जिससे कई घण्टे लोग जाम में फंस रहे है । इतना ही नही यात्रा मार्ग कई स्थानों पर बदहाल बना हुआ है इस पर कार्यदायी एजेंसी द्वारा न तो पानी का छिटकाव किया जा रहा है और न ही सुरक्षा के कोई इंतजामात , बद्रीनाथ धाम में मास्टर प्लान के चलते लोगो के धर्मशालाए व दुकानों को बिना नोटिस के प्रशाषन द्वारा तोड़ दिए गए है । जिससे होटल कारोबारी खासे चिंतित व परेशान है । कर्णप्रयाग के होटल कारोबारी हरिकृष्ण भट्ट का कहना है कि लाखो खर्च कर हम लोग तीर्थयात्रियों के स्वागत में तैयार है लेकिन सरकार द्वारा हमे सहयोग नही किया जा रहा है । सरकार का ध्यान चारधाम यात्रा पर न होकर चम्पावत उपचुनाव को हासिल करने में लगा हुआ है । सरकार को चाहिए कि इस विषय पर ध्यान दे कि किस तरह से उत्तराखंड में पर्यटन व तीर्थाटन को बढ़ाया जा सके । ताकि यहां के कारोबारियों को यात्रा काल मे इसका लाभ मिल सके ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related post

Share