क्षत विक्षत हालात में शव के खुलासे को लेकर प्रशासन का घेराव।

 क्षत विक्षत हालात में शव के खुलासे को लेकर प्रशासन का घेराव।

रामनगर, उत्तराखंड

रामनगर में दो मांह पूर्व संदिग्ध परिस्थितियों में मिले 42 वर्षीय मुस्तकीम नामक व्यक्ति का शव कोर्बेट पार्क के ढेला रेंज में क्षत विक्षत हालात में मिला था, वहीं परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए कोतवाली में तहरीर दी थी, वहीं मामले का खुलासा न होने पर आज परिजनों के साथ ही नगर के सैकड़ों लोगों ने मामले के खुलासे को लेकर प्रशासन का घेराव किया।

कि 2 माह पूर्व संदिग्ध परिस्थितियों में शत-शत हालत में शव मिला था. वही मामले के खुलासे को लेकर आज परिजनों के साथ ही नगर के सामाजिक व मोहल्लेवासियों ने प्रशासन का घेराव किया. परिजनों ने कहा कि मुस्तकीम पुत्र स्वर्गीय मोहम्मद इस्माइल जो रामनगर के ईदगाह खताड़ी रामनगर का रहने वाला था. जो दिनांक 7 अक्टूबर को प्रातः 8:00 बजे घर से ग्राम ढेला रिजॉर्ट(जिम जंगल ) से अपनी मजदूरी के रूपये लेने की बात कहकर घर से निकला था. किंतु रात तक घर नहीं लौटा. परिजनों ने काफी खोजबीन के बाद भी जब मुस्तकीम का कोई पता नहीं लगा तो इसकी सूचना पुलिस को दे दी गई थी. मोहम्मद मुस्तकीम के लापता होने के बाद उसके दोनों मोबाइल नंबर बंद जा रहे थे. परिजनों ने कहां कि मुस्तकीम के लापता होने के बाद पांचवा दिन 12 अक्टूबर रात्रि लगभग 12:00 बजे अचानक जब परिजनों ने कॉल की तो दोनों मोबाइल नंबरों पर लगातार घंटी जाती रही, किंतु कॉल रिसीव नहीं हुई.उन्होंने कहाँ कि इसकी जानकारी पुलिस को हमारे द्वारा दी गई थी. जिसके फलस्वरूप प्रातः पुलिस द्वारा उक्त मोबाइल नंबरों की लोकेशन ग्राम ढेला बताई गई. जिसके बाद परिजन एवं मोहल्ले वासी पुलिस के साथ ग्राम ढेला में घंटों खोजबीन करते रहे. आखिरकार घंटों खोजबीन के बाद ढेला ग्राम में नदी से लगभग 500 मीटर जंगल में लगभग 400-500 मीटर अंदर मुस्तकीम का मोबाइल फोन, चप्पल बीड़ी माचिस तो उसके अगले दिन उक्त जगह पर फिर खोजबीन की गई तो मुस्तकीम की शर्ट और अंडर शर्ट के साथ ही उसका शव भी क्षत-विक्षत हालत में मिला. परिजनों ने कहा कि मौके पर ही पुलिस द्वारा पंचनामा कर पोस्टमार्टम करवाया गया परंतु पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया, विसरा जांच के लिए भेजने की बात कही गई थी, किंतु अभी तक लगभग 2 माह के बाद भी कोई जानकारी परिजनों पर उपलब्ध नहीं कराई गई है.

परिजनों ने कहा कि हमारे द्वारा हत्या का केस कोतवाली में दर्ज कराया गया, 2 माह बाद भी रामनगर पुलिस हत्या करने वालों का पता लगाकर गिरफ्तार नहीं कर पाई है. उन्होने कहाँ कि घटनाक्रम उसके परिजन रामनगर पुलिस का रवैया उदासीन रहा है. जिसके कारण पुलिस हत्या करने वालों तक नहीं पहुंच पाई है. वह मौके पर पहुंचे पुलिस क्षेत्राधिकारी बलजीत सिंह भाकुनी ने कहां कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पस्ट नही था,उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम में मौत का कारण स्पष्ट न होने के चलते हमारे द्वारा प्रशिक्षण के लिए भेजा गया है, लेकिन बहुत सारी जगह से विसरा परीक्षण नही हो पाया. उन्होंने कहाँ कि वर्तमान में वाइल्ड लाइफ लेब देहरादून में विसरा परीक्षण होना शेष है, उसके बाद मौत का असली कारण स्पस्ट हो जाएगा. उसके बाद आघे की कार्रवाई की जाएगी

1 Comments

  • “I was more than happy to uncover this site. I wanted to thank you for your time for this particularly fantastic read!! I definitely liked every bit of it and i also have you book-marked to see new information on your blog.}” visit link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related post

Share